You are here
Home > Politics > दो भाइयों ने बगैर किसी मशीनरी के 13 दिन में खोदा 18 फीट कुआं, निकला पर्याप्त पानी

दो भाइयों ने बगैर किसी मशीनरी के 13 दिन में खोदा 18 फीट कुआं, निकला पर्याप्त पानी

पानी की किल्लत, माथे पर मटका तो लॉकडाउन के खाली समय में खोद दिया कुआं

मंदसौर.
हमेश गर्मी के दिनों में पानी की किल्लत रहती है. गांव की महिलाएं दूरदराज के कुओं से पानी भर, माथे पर मटका उठाकर लाने को मजबूर रहती हैं. मन में कई बार इस समस्या को हल करने का विचार आया, लेकिन परिवार पालन के लिए अर्थ की खासी जरूरत में दोनों भाई कभी समय नहीं निकाल सके. अब जब देशभर में कोरोनावायरस का हल्ला मचा हुआ है और प्रधानमंत्री के आदेश पर लॉकडाउन चल रहा है तो दोनों भाइयों को बेकाम घर बैठना पसंद नहीं आया. उन्होंने बगैर किसी मशीनरी के पूरे जोश में 13 दिन तक लगातार मेहनत की और 18 फीट कुआं खो दिया. इसमें पर्याप्त पानी आ गया, जिससे ना केवल दोनों भाइयों के परिवार बल्कि आस-पड़ोस के कुछ और परिवारों की प्यास मीट सकेगी.


यह मामला मंदसौर जिले के गरोठ तहसील के खाराखेड़ा गांव का है. ग्राम के रहने वाले दो भाई जगदीश और कैलाश मजदूरी करते हैं। कैलाश ने 12वीं के बाद आईटीआई किया और अब लोडिंग वाहन चलाता है. वहीं दूसरा भाई जगदीश एक किराना दुकान पर काम करता है। लॉकडाउन का पालन करते हुए दोनों भाइयों ने घर के आंगन में ही एक कुआं खोदना शुरू किया और 13 दिन की मेहनत के बाद दोनों ने बिना किसी मशीनरी या अन्य किसी की सहायता के 18 फीट गहरा कुआं खोद दिया। कुए में अब पर्याप्त पानी है. दोनों भाइयों का कहना है कि लॉकडाउन के कारण घर से बाहर ना निकलने से हम दोनों ने पानी की समस्या से निजात पाने के लिए कुआं खोदने का निर्णय लिया. गांव में पानी की समस्या होने से लोगों को पानी लेने 3 से 5 किलोमीटर दूर जाना पड़ता था. कुआं खोदने और इसमें पर्याप्त पानी आ जाने से गर्मी के दिनों में आने वाली बड़ी समस्या से उन्हें निजात मिल गई है.

Leave a Reply

Top